फास्टैग क्या है और इसे कैसे बनवाएं? Fastag kya hai ise kaise bnwayein


Fastag क्या है? 

Fastag फास्टैग एक ऐसा टैग है जो टोल प्लाजा पर टोल टेक्स त्वरित रूप से वसूलने के रूप में उपयोग किया जाता है। एक दिसंबर से राष्ट्रीय राजमार्ग पर गुजरने वाले सभी वाहनों पर फास्टैग लगाना अनिवार्य कर दिया गया है।

फास्टैग तकनीक का इस्तेमाल करके टोल प्लाजा पर लगने वाली लंबी लाइन को कम किया जा सकता है और वाहनों पर फास्टैग लगाने से समय की भी बचत होती है ।
फिलहाल इस फास्टैग तकनीक का इस्तेमाल नेशनल हाइवे पर पडने वाले टोल प्लाजा पर किया जा रहा है एवं सरकार की योजना भविष्य में इस तकनीक का वृहद रूप में उपयोग कराने की है। 
सरकार इस पर कार्य कर रही है और सभी टोल प्लाजा के लिए निर्देश जारी कर रही है।  फिलहाल फास्टैग चार पहिया वाहनों पर अनिवार्य किया जा रहा है। 

फास्टैग तकनीक कैसे काम करती है? 
Fastag तकनीक में RFID अर्थात् रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन डिटेक्शन तकनीक का इस्तेमाल होता है। फास्टैग को वाहन की विंड स्क्रीन पर लगाया जाता है।
जैसे ही आप किसी नेशनल हाइवे के टोल प्लाजा से गुजरेंगे तो टोल प्लाजा पर लगे फास्टैग डिटेक्शन सेंसर आपके फास्टैग को आसानी से पढ़ लेंगे और त्वरित टोल प्राप्त करने की कार्यवाही करेंगे। 

इसके बाद आपके खाते से निर्धारित टोल टेक्स की धनराशि की कटौती कर ली जायेगी और आपको नकद भुगतान या टोल प्लाजा कर्मचारी से रूबरू होने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
फास्टैग की प्रक्रिया बहुत सटीक और फास्ट है इसलिए भविष्य में इस तकनीक का उपयोग बड़े पैमाने पर किये जाने की संभावना है। 

फास्टैग से क्या फायदा है? 
1- यदि आप अपने वाहन पर फास्टैग का इस्तेमाल करते हैं तो आपको टोल प्लाजा पर लाइन में लगने की आवश्यकता नहीं होगी। 
2- टोल प्लाजा पर भ्रष्टाचार की संभावना को खत्म किया जा सकेगा। 
3- टोल प्लाजा कर्मचारी से बहस की संभावना खत्म हो जायेगी  ।
4- आपको नकद पैसा या खुले पैसे रखने की चिंता नहीं होगी। 
5- आपके उपयोगी समय की बचत होगी। 


फास्टैग कैसे बनवाएं? 
फास्टैग बनवाने के लिए निम्न निर्धारित प्रक्रिया का पालन करें ।
1- फास्टैग बनवाने के लिए आपको फास्टैग हेतु निर्धारित एप्लीकेशन या वेबसाइट पर जाना होगा। 
2- वहां आप अपना विवरण भरकर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।
3- केवाइसी अवश्य पूर्ण करें। 
4- अपने वाहन से सम्बन्धित जानकारी अपलोड करें 
5- अन्य दस्तावेज मांगे जाने पर उन्हें अपलोड करें 
इस प्रकार आप फास्टैग प्राप्त कर सकते हैं और इस ऑनलाइन ही रिचार्ज कर सकते हैं। रिचार्ज करने के लिए आपके फास्टैग खाते का बैंक से लिंक होना आवश्यक नहीं है ।

अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी तो आप सोशल मीडिया पर अवश्य शेयर करें।