तस्वीरों में रोते हुए व्यक्ति क्या वाकई रोम/इटली के प्रधानमंत्री हैं? Viral fact check


वायरल फैक्ट चैक
तस्वीरों में रोते हुए व्यक्ति  क्या ये वाकई रोम/इटली के प्रधानमंत्री हैं? 


आजकल हर तरफ कोरोना वायरस को लेकर भारत में हाहाकार मचा हुआ है और ऐसे में सोशल मीडिया पर तमाम तरह की भ्रामक खबरें प्रसारित हो रही हैं। 

सोशल  मीडिया पर एक खबर रोम/ इटली के प्रधानमंत्री को लेकर भी चल रही है जिसमें दावा किया गया है कि ये रोने वाला शख्स इटली का प्रधानमंत्री है जो अब कोरोना की गंभीर स्थिति से तंग आ गया है और इस तस्वीर के कैप्शन में लिखा गया है कि वहां की जनता को मरते देख वहां के प्रधानमंत्री ने हाथ खड़े कर दिए हैं और कहा है कि अब तो बस भगवान ही मालिक है। 

gkiweb.com ने इस तस्वीर की पड़ताल की और उस पड़ताल में गूगल इमेज सर्च फीचर का सहारा लिया गया तो पता चला कि यह तस्वीर रोम इटली के प्रधानमंत्री की नहीं है बल्कि ब्राजील के राष्ट्रपति बोल्सनारो (Jair Bolsonaro की है और जैसा कि वायरल पोस्ट में कोरोना की स्थिति के संदर्भ में रोते हुए दिखाया गया है ये बिल्कुल सच नहीं है और यह पोस्ट शरारती तत्वों द्वारा तैयार की गयी है।

हमने अपनी पड़ताल में रोती हुई तस्वीर को फर्जी पाया और ये इटली के प्रधानमंत्री नहीं है बल्कि ब्राजील के राष्ट्रपति Jair Bolsonaro हैं। 


हम आपसे अपील करते हैं कि कोई भी वायरल पोस्ट को वायरल करने से पहले उसकी सत्यता जांचने की कोशिश अवश्य करें अन्यथा आप किसी भी पुलिस कार्रवाई का शिकार हो सकते हैं। 
बेहतर है कि आप कोरोना महामारी से सम्बन्धित कोई भी भ्रामक जानकारी शेयर करने से बचें और अपने घर पर रहकर अन्य बाहरी लोगों से संपर्क तोड़ लें। 
अपने घर पर रहें और बाहरी लोगों के संपर्क में न आएं। 
यदि आपके करीब को संदिग्ध या विदेश से आया हुआ शख्स रह रहा है और यदि उसे कोरोना वायरस के लक्षण हैं,  तो इसकी सूचना तुरंत पुलिस को दें 

कोरोना बहुत ही स्वाभिमानी और आत्मसम्मान से भरा हुआ वायरस है ।
वो तब तक आपके घर नहीं आएगा, जब तक आप उसे लेने  खुद बाहर नहीं निकलते ।

 यथासंभव घर पर ही रहे। उसे लेने बाहर न जाए।*
 कोरोना वायरस की श्रंखला को तोड़ें 

Content author - SURYA PRATAP SINGH

अगर आप चाहते हैं कि यह फर्जी खबर आपके करीबियों तक न पहुंचे तो आप इसे शेयर कर सकते हैं।