MSME क्या है? |एमएसएमई किसे कहते हैं| msme kya hai


MSME क्या है? |एमएसएमई किसे कहते हैं| msme kya h
एमएसएमई की परिभाषा क्या है? 
MSME की फुल फॉर्म क्या है?


एमएसएमई किसे कहते हैं? 
एमएसएमई छोटे लघु उद्यमी तथा कारोबारियों के लिए  प्रोत्साहन राशि प्रदान करने की एक योजना है। 
इस योजना के अंतर्गत छोटे- छोटे कारोबारियों को लोन प्रदान किया जायेगा। 
ये लोन केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर देंगी जिससे लघु उद्योग से जुड़े लोगों को आत्मनिर्भर बनने में आसानी हो और अपना लघु उद्योग स्थापित कर सकें। 


MSME KYA HAI. 
एमएसएमई कारोबारियों को केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा कई तरह से प्रोत्साहन दिया जा रहा है। सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग क्षेत्र का देश के विकास में बहुत महत्वपूर्ण योगदान है। उसी को ध्यान में रखते हुए इससे जुड़े हुए व्यक्तियों को आत्मनिर्भर बनाने की योजना है।  MSME लोन सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग क्षेत्र से सम्बन्धित उद्यमियों को प्रोत्साहित करने की एक योजना है। 

एमएसएमई योजना 2006 में बने MSME अधिनियम 2006 से सम्बन्धित है।  इस योजना का लाभ उठाने के लिए इन उद्योगों  से सम्बन्धित व्यक्ति अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करके जरूरी सहायता प्राप्त कर सकते हैं। 
एमएसएमई को केंद्र सरकार ने कुछ मानकों के साथ परिभाषित किया है। इस योजना के तहत मिलने वाली प्रोत्साहन बहुत ही कम समय में लाभार्थी को प्राप्त हो जाती है। 

MSME का विस्तृत रूप निम्न प्रकार है।
MSME की फुलफॉर्म MICRO SMALL AND
MEDIUM ENTERPRISE अर्थात् सूक्ष्म ,लघु एवं मध्यम उद्योग है। 

M-सूक्ष्म उद्योग ( Micro Enterprise) 
यह उद्योग का सबसे सूक्ष्मतम रूप हे। 
इस दायरें में छोटे छोटे उद्योग आते हैं एवं इसमें मिलने वाली प्रोत्साहन राशि अन्य उद्योगों के लिए मिलने वाली प्रोत्साहन राशि की तुलना में कम होती है।

S-लघु उद्योग (Small enterprise) 
ये उद्योग सूक्ष्म उद्योग की अपेक्षा बड़े होते हैं। 
इसमें मिलने वाली प्रोत्साहन राशि भी सूक्ष्म उद्योग के लिए निर्धारित राशि से अधिक होती है। 

M-मध्यम उद्योग. (Mediam enterprise)
ये उद्योगों की श्रेणी का उच्च स्तर है। इसमें मिलने वाली प्रोत्साहन राशि करोड़ों में हो सकती है। इस प्रकार के उद्योग लघु एवं सूक्ष्म उद्योगों से अधिक का बिजनेस करते हैं।